novels in hindi
किताब

Top 10 Novels in Hindi।(बेस्ट नोवेल्स इन हिन्दी )

Novels in hindi:अगर आप आपको उपन्यास पढ़ना पसंद है और आपने top 10 novels in hindi सर्च कर रहे हैं तो आप इस पोस्ट को पढ़कर आसानी से अपने सवाल का जवाब पा सकते हैं। आज के इस लेख में हिंदी के सबसे अच्छे 10 उपन्यास को आप लोगों के सामने रखेंगे। मैंने इसमें ऐसे 10 उपन्यास को लिया है जो हिंदी के महान उपन्यासकारो के द्वारा लिखा है अगर आप उपन्यास प्रेमी है तो हमारे द्वारा बताए गए इन 10 उपन्यासों को अवश्य पढ़ना चाहिए तो चलिए इसके बारे में बड़ी-बड़ी जानते है ।

novels in hindi (बेस्ट नोवेल्स इन हिन्दी )

हमें अपने जीवन में उपन्यास पढ़ना चाहिए लोग अक्सर उपन्यास मनोरंजन करने के लिए पढ़ते हैं किंतु आप उपन्यास पढ़कर अपने लाइफ को और भी खूबसूरत और सुंदर विचारधारा बना सकते हैं क्योंकि विद्वान ने उपन्यासकारों ने अपने विचार को कहानी के रूप में इस उपन्यासों में चित्रण प्रस्तुत किया है। उपन्यास पढ़ने से मनोरंजन तो होता ही है और हमें बुद्धि विकास के लिए बहुत जरूरी है उपन्यासों के मदद से महान लेखकगणो काल्पनिक कथाओं के मदद से हमारे सामाजिक के प्रस्तुति आर्थिक परिस्थिति राजनीतिक परिस्थिति को हम लोगों के सामने प्रस्तुत किया है।

Top 10 Novels in Hindi

  1. मैला आँचल
  2. गुनाहों के देवता
  3. कितने पाकिस्तान
  4. गबन
  5. निर्मला
  6. गोदान
  7. काशी का अस्सी
  8. गोरा
  9. ओस का बूँद
  10. प्रतिज्ञा

1. मैला आँचल

मैला आंचल में पूर्णिया जिला के मेरीगंज नामक गांव का वर्णन है । रेणु के अनुसार इसमें फूल भी है, शूल भी है, धूल भी है, गुलाब भी है और कीचड़ भी है। मैं किसी से दामन बचाकर निकल नहीं पाया। इसमें गरीबी, रोग, भुखमरी, जहालत, धर्म की आड़ में हो रहे व्यभिचार, शोषण, बाह्याडंबरों, अंधविश्वासों आदि का चित्रण है।मैला आंचल का नायक एक युवा डॉ प्रशांत बनर्जी है, जो अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद पिछड़े गांव को अपने कार्य क्षेत्र के रूप में चुनता है इसी क्रम में ग्रामीण जीवन के पिछड़ेपन अभाव अज्ञान अंधविश्वास के साथ-साथ तरह तरह के सामाजिक शोषण चक्रों में फंसे हुए जनता की  पीड़ाओं और संघर्षों से भी उसका साक्षात्कार होता है।

मैला आँचल
मैला आँचल

लेखक:-फणीश्वर नाथ ‘ रेणु ‘

फणीश्वर नाथ ‘ रेणु ‘ का जन्म का जन्म 4 मार्च 1921 को बिहार के अररिया जिले में फॉरबिसगंज के पास औराही हिंगना गाँव में हुआ था। फणीश्वर नाथ ‘ रेणु ‘ भारतीय महान साहित्यकार थे । उन्हे मैला आँचल उपन्यास के पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था ।

2. गुनाहों का देवता Romatic novels in hindi

हिंदी के सभी सबसे अच्छे उपन्यास को देखा जाए तो गुनाहों का देवता का नाम सबसे पहले आता है गुनाहों के देवता उपन्यास भारत का सबसे दुखांत उपन्यास माना जाता है इसमें मुख्य 3 पात्र है । यह कहानी है चंद्र और सुधा की है सुधा के पिता विश्वविद्यालय के प्रोफेसर है चंदर उसी विश्वविद्यालय का छात्र है सुधा के पिता उसे अपने पुत्र जैसा मानते हैं जिसके वजह से चंद्र को सुधा के यहां आना जाना लगा रहता है, इसी बीच चंद्र को सुधा से प्यार हो जाता है किंतु सुधा के पिता के उपहार के वजह से वह अपने दिल की बात नहीं कह पाता और सुधा की शादी कहीं और हो जाती है और इसीलिए चंद्र को गुनाहों का देवता कहा जाता है भारती साहब ने इस उपन्यास से प्रेम की परिभाषा को अलग रूप दिया है उपन्यास का अंतिम अध्याय आपको झंझोर के रख देगी और रुला भी देगी।

गुनाहों का देवता
गुनाहों का देवता

लेखक:-धर्मवीर भारती

धर्मवीर भारती का जन्म 25 दिसंबर 1926 को इलाहाबाद के अतर सुइया मुहल्ले में एक कायस्थ परिवार में हुआ था।धर्मवीर भारती आधुनिक हिन्दी साहित्य के प्रमुख लेखक, कवि, नाटककार और सामाजिक विचारक थे। वे एक समय की प्रख्यात साप्ताहिक पत्रिका धर्मयुग के प्रधान संपादक भी थे।उन्हे साहित्य के लिए पद्मश्री पुरस्कार दिया गया था ।

3. कितने पाकिस्तान

कितने पाकिस्तान कमलेश्वर द्वारा रचित उपन्यास है कितने पाकिस्तान कमलेश्वर द्वारा लिखा गया है एक प्रयोगवादी उपन्यास है इस उपन्यास को 2003 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था इस उपन्यास में भारत पाकिस्तान के बंटवारे और हिंदू मुस्लिम संबंधों पर आधारित है इसमें देश के बंटवारे को ही नहीं देश के संस्कृति और विश्वास के भी बटवारे को बताया गया है कमलेश्वर कहते हैं समाज में हो रही कई बंटवारे जैसे जाति के आधार पर ,भाषा के नाम पर ,विचार के नाम पर लेखक का कहना है कि और कितने बटवारे होंगे इसलिए इस किताब का नाम कितने पाकिस्तान रखा गया है अगर किताब का सारांश का निचोड़ लिया जाए तो इसका मतलब है सदियों से चली आ रही विभाजन को बंद करना।

कितने पाकिस्तान
कितने पाकिस्तान

लेखक:-कमलेश्वर प्रसाद सक्सेना


कमलेश्वर का जन्म 6 जनवरी 1932 को उत्तरप्रदेश के मैनपुरी जिले में हुआ2005 में कमलेश्वर को ‘पद्मभूषण’ से नवाज़ा गया और 2003 में उन्हें ‘कितने पाकिस्तान'(उपन्यास) के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

4. गबन Novels in Hindi

गबन मुंशी प्रेमचंद्र द्वारा लिखा गया उपन्यास है प्रेमचंद द्वारा लिखा हुआ सभी किताबों में से गवन सबसे ज्यादा चर्चित किताब है गबन का मूल विषय है महिलाओं का पति के जीवन पर प्रभाव । इसमें दो मुख्य पात्र है जालपा और रामनाथ जालपा अपने मां के गले में लटकते हुए हार चंद्रहार बहुत पसंद है किंतु मां कहती है कि तुम्हारी शादी होने के बाद तुम्हारे पति खरीद कर उपहार में देंगे । जालपा और रामनाथ दोनों एक दूसरे से बेहद प्यार करते हैं जालपा को लगता है कि उसके पति रामनाथ उसके लिए चंद्रहार खरीद देंगे किंतु रामनाथ गरीब घर से आते हैं रामनाथ को आपको लगता है वह जालपा को खो देगा इसलिए वह जालपा को झूठी संतापना देता रहता है

गबन
गबन

लेखक:-प्रेमचंद

प्रेमचंद का नाम धनपत राय श्रीवस्ताव है । प्रेमचंद हिन्दी और उर्दू प्रख्यात उपन्यासकार , कहानीकार एंवम विचारक थे । उन्होंने लगभग 1.5 हजार उपन्यास और 300 से ज्यादा कहानी लिखा है ।

5. निर्मला

निर्मला मुंशी प्रेमचंद द्वारा रचित सबसे सुंदर हिंदी उपन्यास है उपन्यास का लक्ष्य है अनमेल विवाह तथा दहेज प्रथा के बुरे प्रभाव को अंकित करना है इसमें मुख्य पात्र निर्मला है जो 15 वर्षीय सुंदर और सुशील लड़की है जिसका विवाह एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति के साथ कर दिया जाता है जिसका पहले से पत्नी से तीन बच्चे हैं गांव और समाज वालों ने निर्मला को चरित्र पर अनादर इल्जाम लगाते हैं किंतु निर्मला का चरित्र निर्मल है ऐसी परिस्थितियों को चलते हुए मृत्यु को प्राप्त कर लेती है निर्मला के माध्यम से भारत की मध्यवर्गीय युवतियों की दयनीय हालत को चित्रण किया हुआ है

निर्मला
निर्मला

लेखक:-प्रेमचंद

`प्रेमचंद का जन्म 31 जुलाई 1880 को वाराणसी जिले (उत्तर प्रदेश) के लमही गाँव में एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उनकी माता का नाम आनन्दी देवी तथा पिता का नाम मुंशी अजायबराय था जो लमही में डाकमुंशी थे।

6. गोदान Hindi novels

इसमें भारतीय ग्राम समाज एवं परिवेश का सजीव चित्रण है। गोदान ग्राम्य जीवन और कृषि संस्कृति का महाकाव्य माना जाता है। इसमें प्रगतिवाद, गांधीवाद और मार्क्सवाद (साम्यवाद) का पूर्ण परिप्रेक्ष्य में चित्रण हुआ है।

जिसमें उनकी कला अपने चरम उत्कर्ष पर पहुँची है। गोदान में भारतीय किसान का संपूर्ण जीवन – उसकी आकांक्षा और निराशा, उसकी धर्मभीरुता और भारतपरायणता के साथ स्वार्थपरता ओर बैठकबाजी, उसकी बेबसी और निरीहता- का जीता जागता चित्र उपस्थित किया गया है।

गोदान
गोदान

लेखक:-प्रेम चंद का प्रारम्भिक जीवन संघर्षमय रहा। जब वे सात साल के थे, तभी उनकी माता का स्वर्गवास हो गया। जब पन्द्रह वर्ष के हुए तब उनका विवाह कर दिया गया और सोलह वर्ष के होने पर उनके पिता का भी देहान्त हो गया।फिर भी उन्होंने आप को मुकाम तक पहुचाया ।

7. काशी का अस्सी

काशी का अस्सी उपन्यास काशी नाथ द्वारा लिखा हुआ सबसे बढ़िया उपन्यास है काशीनाथ खुद ही काशी के निवासी थे। इस किताब में मिलेंगे काशी, काशी के लोग और उनका अनंत ज्ञान , इसमें काशीनाथ के काशी के मशहूर अस्सी घाट को रखा गया है काशी के विद्वान ज्ञानी लोग आज के सामाजिक, राजनीतिक परिस्थितियों को सभी ज्ञानी आपस में डिबेट करके इस किताब में चित्रण किया है और इस सभी समस्याओं का समाधान भी इस उपन्यास में चित्रण है इसमें लगभग पूरे 5 कहानी है।

काशी का अस्सी
काशी का अस्सी

लेखक:-काशीनाथ सिंह

काशीनाथ सिंह का जन्म वाराणसी (अब चंदौली) के जीयनपुर गाँव में 1 जनवरी, सन् 1937 को हुआ था।काशीनाथ सिंह  हिन्दी साहित्य की साठोत्तरी पीढ़ी के प्रमुख कहानीकार, उपन्यासकार एवं संस्मरण-लेखक हैं।उच्च शिक्षा के लिए काशीनाथ सिंह बनारस चले आये जहाँ काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से उन्होंने स्नातक, परास्नातक और पी-एच०डी० की उपाधियाँ प्राप्त कीं।

8. गोरा Top Novels in Hindi

गोरा” धार्मिक सहिष्णुता-असहिष्णुता और राष्ट्रवाद की श्वेत-श्याम छवि के बीच उभरते प्रेम के पागलपन मे राष्ट्रीय गौरव की एक अद्भुत कथा है। मेरे द्वारा पढ़ी जाने वाली उनकी यह पहली किताब हैं किन्ही कारणों से इसे अब पोस्ट किया जा रहा है। आज के समय के लेखकों को पढ़ने के बाद जब आप कुछ नया फ्लेवर खोजने की तलास मे है, तो आपको टैगोर को जरूर पढ़ना चाहिए।

 गोरा
गोरा

लेखक:-रवींद्र नाथ टैगोर

ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान भारत के प्रथम नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगौर ने गोरा जैसी उपन्यास का रचना कर धर्म, जाति के साथ राष्ट्रीयता की रक्षा करने का परिचय दिया हैं । आज के समय के लेखकों मे ऐसा देखने को नहीं मिलेगा।

9. ओस का बूँद

ओस की बूंद राही मासूम रज़ा का तीसरा उपन्यास है। यह उपन्यास हिन्दू-मुस्लिम समस्याओं को लेकर शुरू होता है लेकिन आखिर तक आते-आते पाठकों को पता चलता है कि हिन्दू-मुस्लिम समस्या वास्तव में कुछ नहीं है, यह सिर्फ राजनीति का एक मोहरा है और जो असली चीज है वह है इंसान के पहलू में धड़कने वाला दिल और उस दिल में रहने वाले ज़ज्बात और इन दोनों का मजहब और जात से कोई ताल्लुक नहीं। इसलिए साम्प्रदायिक दंगों के बीच सच्ची इंसानियत की तलाश करने वाला यह उपन्यास एक शहर और एक मजहब का होते हुए भी हर शहर और हर मजहब का है ! एक छोटी-सी जिन्दगी की दर्द भरी दास्तान जो ओस की बूँद की तरह चमकीली और कम उम्र है।

ओस की बूंद 
ओस की बूंद 

लेखक:-राही मासूम रज़ा

10. प्रतिज्ञा

‘प्रतिज्ञा’ उपन्यास विषम परिस्थितियों में घुट घुट कर जी रही भारतीय नारी की विवशताओं और नियति का सजीव चित्रण है। प्रतिज्ञा का नायक विधुर अमृतराय किसी विधवा से शादी करना चाहता है ताकि किसी नवयौवना का जीवन नष्ट न हो। ..। नायिका पूर्णा आश्रयहीन विधवा है। समाज के भूखे भेड़िये उसके संचय को तोड़ना चाहते हैं। उपन्यास में प्रेमचंद ने विधवा समस्या को नए रूप में प्रस्तुत किया है एवं विकल्प भी सुझाया है। इसी पुस्तक में प्रेमचंद की अंतिम और अपूर्ण उपन्यास मंगल‍सूत्र भी है। इसका बहुत थोड़ा अंश ही वे लिख पाए थे। यह गोदान के तुरंत बाद की कृति है जिसमें लेखक अपनी शक्तियों के चरमोत्कर्ष पर था।

प्रतिज्ञा
प्रतिज्ञा

लेखक:-प्रेमचंद

प्रेमचंद उस समय के बहुत प्रसिद्ध लेखक है । इसमें उस दौर के समाजसुधार आन्दोलनों, स्वाधीनता संग्राम तथा प्रगतिवादी आन्दोलनों के सामाजिक प्रभावों का स्पष्ट चित्रण है। उनमें दहेज, अनमेल विवाह, पराधीनता, लगान, छूआछूत, जाति भेद, विधवा विवाह, आधुनिकता, स्त्री-पुरुष समानता, आदि उस दौर की सभी प्रमुख समस्याओं का चित्रण मिलता है। 

Novels in hindi pdf

अगर आप इस novels in hindi pdf डाउनलोड करना चाहते हैं तो दिए गए नीचे वाले लिंक पर क्लिक करके आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं मैंने इस लेख में 10 ऐसे वेबसाइट के बारे में बताया है जहां पर आप इन उपन्यासों को eबुक में डाउनलोड कर सकते हैं और पीडीएफ भी डाउनलोड कर सकते हैं।Download books:फ़्री मे कोई भी किताब करे डाउनलोड ।

Conclusion Novels in Hindi

उम्मीद करता हूं कि यह लेख आपको अच्छा लगा होगा मैंने काफी रिसर्च और मेहनत से इसे अब तक पहुंचाया है मैंने जितने भी नोवेल्स आज लिए हैं यह अपने आप में सबसे बेस्ट नोवेल्स हैं मैंने हर एक एक किताब के बारे में थोड़ा सा जानकारी देने की कोशिश की है जो आपको बुक पढ़ने में इंटरेस्ट जगा देगा अगर यह जवाब अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों को शेयर करना ना भूले ।

धन्यवाद

FAQ for best novels in hindi

Q. हमे नोवेल्स क्यों पढ़ना चाहिए ?

Ans. अक्सर लोग नोवेल्स मनोरंजन और बौद्धिक विकास के लिए पढ़ते हैं और यह सच भी है क्योंकि उपन्यास हमें बौद्धिक विकास में काफी मदद करती है।

Q. दुनिया के सबसे बेस्ट नोवेल्स कौन सा है ?

Ans. ऐसे तो हिंदी में लिखी हुई बहुत सारी उपन्यास है किंतु गुनाहों का देवता को इंडिया का सबसे बेस्ट नोवेल्स माना जाता है

Q. बेस्ट रोमटिक नोवेल्स कौन सा है ?

Ans. अगर आप रोमांटिक उपन्यास के बारे में सोच रहे हैं तो आपको एहसास उपन्यास पढ़ना चाहिए

Q. क्या नोवेल्स पढ़ने के फायदे है ?

Ans. उपन्यास पढ़ने के बहुत सारे फायदे हैं जैसे मनोरंजन बौद्धिक विकास सुंदर विचार धारा और भी बहुत कुछ

अन्य पढ़े :-

11 Replies to “Top 10 Novels in Hindi।(बेस्ट नोवेल्स इन हिन्दी )

  1. ये सब बहुत ही अच्छी किताबे है। इन किताबों के बारे में आपने बढ़िया करके बताया है। में एक बार इन किताबो जरूर पडूंगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *