Shardha murder case
लेटेस्ट न्यूज

श्रद्धा हत्याकांड: आरोपी आफताब ने मर्डर से जुड़े खोले कई राज, सच आया सबके सामने, जाने अब तक क्या-क्या हुआ।

दिल्ली में रह रहे आफताब ने अपने पार्टनर की हत्या कर दी एवं अफताब अपने हत्या करने के बाद उसके शव को 35 टुकड़ों में काट दिया।

आरोपी अख्तर आपने इस क्राइम को अंजाम देने के बाद अपने फ्लाइट पर एक और लड़की को बुलाकर दोनों रात भर साथ में रहे थे। पुलिस उस लड़की के बारे में पता लगा रही है।

पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है एवं अभी तक पुलिस ने अफताब से कई सारे जानकारी हासिल कर चुकी है। जिससे कई राज से पर्दा उठ रहे हैं।

आई अभी तक क्या क्या हुआ पूरा विस्तार से जानते हैं।

श्रद्धा और आरोपी अफताब की मुलाकात कैसे हुई?

श्रद्धा महाराष्ट्र के पालघर में रहती थी। श्रद्धा वहीं एक कंपनी में कॉल सेंटर में काम करती थी। श्रद्धा और आरोपी अफताब की मुलाकात उसी कंपनी में हुई थी एवं थोड़े समय बाद दोनों लिव-इन में रहने लगे।

श्रद्धा ने आरोपी आफताब से शादी करने के बाद अपने पेरेंट्स को बताई पर श्रद्धा के पेरेंट्स ने मना कर दिया। जिसके कारण दोनों घर से भागकर दिल्ली के छतरपुर में आकर रहने लगे।

श्रद्धा के द्वारा अफताब पर शादी का दबाव बनाने पर आफताब ने उसकी गला दबाकर बेरहमी से उसकी हत्या कर दी और फिर उसकी हत्या करने के बाद उसके शव को 35 टुकड़ों में काट दिया।

पिता ने दर्ज की शिकायत

श्रद्धा के पिता ने कहा कि जब श्रद्धा घर छोड़कर भाग कर छतरपुर आकर रहने लगी उसके बाद श्रद्धा ने उनसे सारे संपर्क तोड़ लिए थे। परंतु उन्हें श्रद्धा के बारे में जानकारी किसी तरह से मिलती रहती थी।

लेकिन मई के बाद जब एक लंबे समय तक उन्हें श्रद्धा की किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिली। तो वह छतरपुर आ गए परंतु यहां आकर देखा कि श्रद्धा और आरोपी आफताब का फ्लैट बंद है।

फिर तुरंत उन्होंने महरौली पुलिस थाने में अफताब के खिलाफ श्रद्धा का अपहरण करने की शिकायत दर्ज कराई। शनिवार को पुलिस के द्वारा आफताब को गिरफ्तार करने पर अफताब अपने अपने सारे गुनाह कबूल कर लिया।

कैसे दिया हत्या को अंजाम

पूछताछ में आरोपी अफताब ने पुलिस को बताया कि श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसकी खून के धब्बे को केमिकल से साफ की एवं उसकी शव को बाथरूम में रख दिया।

बाथरूम में बंद करने के बाद उसने बगल के एक दुकान से फ्रिज खरीदना एवं आरोपी ने उसके शव को 35 टुकड़ों में काटकर उसे फ्रिज में रख दिया।

साथ ही उसने यह बताया कि उसने सब के 35 टुकड़ों को एक-एक करके उसे फेंकता था। वह प्रतिदिन 2:00 बजे सब सब के एक टुकड़े को बैग में भरकर उसे पास के महरौली के जंगल में रोजाना अलग-अलग जगहों पर फेंकता था। उसने कुल 18 दिनों में शव के सभी टुकड़ों को फेंका था।

पुलिस ने आरोपी अफताब के बताने पर चल के 10 टुकड़े एवं कई हड्डियों को बरामद की है जिसकी जांच हो रही है।

श्रद्धा और आफताब को फ्लैट दिखाने वाला गिरफ्तार

पुलिस ने कहा कि 8 मई को श्रद्धा और आस्था घर से भागकर दिल्ली आ गए थे और उसने 10 दिनों के बाद ही 18 मई को अफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी।

इस मामले में पुलिस ने अफताब को फ्लैट दिखाने वाला को भी गिरफ्तार किया है। शंका है कि फ्लैट दिखाने वाला शख्स को पहले से उसे इस हत्याकांड की भनक थी इसलिए उसने जंगल के नजदीक उसे फ्लैट दिलाया था।

दोस्त के बयान से खड़ा हुआ सवाल

इस मामले पर श्रद्धा के दोस्त श्रवण नडार ने पुलिस को या बताया कि श्रद्धा ने जुलाई के महीने में उससे बात किया था एवं उस समय वह बहुत डरी हुई लग रही थी एवं उस समय उसने कहा कि ‘मुझे बचा लो वरना आफताब मुझे मार डालेगा।’

परंतु पुलिस का कहना है कि श्रद्धा की हत्या 18 मई को हुई थी। ऐसे में यह सवाल आता है कि श्रद्धा की हत्या कब की गई थी। पुलिस इस बात की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *