uk new president election process
लेटेस्ट न्यूज

लिज ट्रस के इस्तीफे के बाद कौन होगा ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री एवं कैसे होगा इसका चुनाव?

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है देश में हो रहे आर्थिक और राजनीतिक प्रकार के संकट के कारण ने ऐसा कदम उठाना पड़ा।

लिज ट्रस ने ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के बाद 5 सितंबर को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद को संभाली थी परंतु महज 45 दिनों में ही उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

आइए उन्होंने इस्तीफा क्यों दिया एवं अगला प्रधानमंत्री का चुनाव कैसे होगा यह जानते हैं।

लिज ट्रस ने अपने इस्तीफे में क्या कहा

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने गुरुवार को अपना इस्तीफा देते हुए उन्होंने यह कहा कि “वह प्रधानमंत्री मंत्री बनने की दौड़ के दौरान किए वादों को पूरा नहीं कर सकी हैं। उन्होंने अपनी पार्टी का विश्वास खो दिया है।”

और उन्होंने यही कहा कि, “मैं मानती हूं कि वर्तमान में मेरे पास वह जनादेश नहीं है, जिसके दम पर मुझे कंजर्वेटिव पार्टी ने अपना नेता चुना था। इस कारण मैंने महामहिम राजा को संदेश भिजवाया कि मैं कंजरवेटिव पार्टी के नेता के रूप में इस्तीफा दे रही हूं।”

कैसे होगा ब्रिटेन की नए प्रधानमंत्री का चुनाव

ब्रिटेन के संविधान के अनुसार जब कोई नेता जो कंजरवेटिव पार्टी का है तो नया नेता का चयन चुनाव के जरिए किया जाएगा। और यह चुनाव 1992 समिति के द्वारा बनाए गए नियमों के आधार पर होगा।

इस समिति को हाउस ऑफ कॉमंस के द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें कंजरवेटिव सांसदीय समूह और बिना सरकारी पद वाले सांसद दोनों होते हैं।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है जो की सोमवार तक चलेगी।

uk new president

क्या होगा चुनाव का प्रक्रिया

जो भी उम्मीदवार प्रधानमंत्री की रेस में भाग लेना चाहता है उसके पास कम से कम 100 सांसदों का समर्थन होना चाहिए तभी वह प्रधानमंत्री के इस रेस में शामिल हो सकता है।

फिलहाल संसद में 357 कंजरवेटिव पार्टी के सांसद है तो प्रधानमंत्री के रेस में 3 उम्मीदवार शामिल हो सकते हैं।

प्रधानमंत्री के तीनों उम्मीदवार मैं से जिस भी उम्मीदवार को कम समर्थन मिलेगा उसे इस रेस से बाहर कर दिया जाएगा। और बचे दो उम्मीदवार के बीच मुकाबला होगा।

फिर कंजरवेटिव पार्टी के सदस्य 2 उम्मीदवारों में से अपने पसंद के उम्मीदवार को वोट देंगे। वोटिंग की प्रक्रिया ऑनलाइन तरीके से होगी। जिसे सबसे ज्यादा वोट मिलेगा उसे ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री चुन लिया जाएगा।

28 अक्टूबर को होगी नए प्रधानमंत्री की घोषणा

एक उम्मीदवार फिर से बाहर होने के बाद बचे दोनों उम्मीदवार को टेलीविजन पर एक बहस प्रोग्राम में हिस्सा लेना होगा जिसमें वह अलग अलग विषय पर अपने सुझाव देंगे।

28 अक्टूबर को चुनावी प्रक्रिया समाप्त होने के बाद ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री का ऐलान कर दिया जाएगा।

यदि नाम कन के प्रक्रिया के दौरान ही यदि सिर्फ एक ही उम्मीदवार को ही 100 से अधिक कंजरवेटिव पार्टी के सांसदों का समर्थन मिल पाता है। तो उस स्थिति में चुनाव नहीं होगा। बल्कि उस उम्मीदवार को ही पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री पद के लिए चुन लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *